English
उत्‍तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड

उत्तर प्रदेश सरकार

बोर्ड योजनाएं

अध्याय - 9

बोर्ड की मुख्य योजनाएं


2. वनाधारित उद्योग

  1. हाथ कागज उद्योग।
  2. कत्था निर्माण।
  3. गोंद और रेजिन निर्माण।
  4. लाख निर्माण।
  5. कुटीर दियासलाई उद्योग, पटाखे और अगरबत्ती निर्माण।
  6. बांस और बेंत कार्य।
  7. कागज से प्याले, तश्तरी, झोले ओर कागज के डिब्बे का निर्माण।
  8. कापियों का निर्माण, जिल्दसाजी, लिफाफा निर्माण, रजिस्टर निर्माण और कागज से बनाई जाने वाली अन्य लेखन सामग्रियाँ।
  9. खस टट्टी और झाडू निर्माण।
  10. वनोत्पादों का संग्रह प्रशोधन एवं पैकिंग।
  11. फोटो जड़ना।
  12. जूट उत्पादों का निर्माण (रेशा उद्योग के अन्तर्गत)।

3. कृषि आधारित और खाद्य उद्योग

  1. अनाज दाल, मसाला, चटपटे मसाले आदि का प्रशोधन, पैकिंग और विपणन।
  2. ताड़ गुड़ निर्माण और अन्य ताड़ उत्पाद उद्योग।
  3. गन्ना गुड़ और खाण्डसारी निर्माण।
  4. मधुमक्खी पालन।
  5. अचार सहित फल और सब्जी का प्रशोधन, परिरक्षण एवं डिब्बाबन्दी।
  6. घानी तेल उघोग।
  7. नारियल जटा के अलावा रेशा।
  8. औषधीय कार्यो हेतु जड़ी- बूटियों का संग्रह।
  9. मकई और रागी का प्रशोधन।
  10. मज्जा चटाईयां और हारा आदि का निर्माण।
  11. काजू प्रशोधन।
  12. दोना बनाना।
  13. नूडल निर्माण।
  14. विद्युत चलित आटा चक्की।
  15. दलिया निर्माण।
  16. चावल से छिलका उतारने की छोटी इकाई।
  17. भारतीय मिष्ठान निर्माण।
  18. रसवन्ती-गन्ना रसपान इकाई।
  19. मेन्थाल तेल।
  20. दुग्ध उत्पादन निर्माण इकाई।
  21. पशु चारा, मुर्गी चारा निर्माण।