English
उत्‍तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड

उत्तर प्रदेश सरकार

कर्तव्य एवं दायित्व

2. वित्त नियंत्रक एवं मुख्य वित्त एवं लेखाधिकारी

शासन द्वारा एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी द्वारा प्रतिनिधानित अधिकार एवं कर्तव्य
  1. बोर्ड के समस्त लेखा एवं वित्त के रखरखाव की देखभाल करना।
  2. बोर्ड के वित्तीय सलाहकार के रूप में कार्य करना।
  3. बोर्ड के समस्त लेखा तथा आडिट पर नियंत्रण रखना तथा बोर्ड की समस्त योजनाओं के वित्त नियंत्रक के रूप में कार्य करना।
  4. बोर्ड की वार्षिक एवं अन्य वित्तीय परिलेख समय से बनवाना एवं नियंत्रण रखना।
  5. बोर्ड के विभागीय तथा खादी ग्रामोद्योग आयोग से प्राप्त होने वाली सहायता के बजट बनाना।
  6. बोर्ड के लेखों को नियमानुसार बनाना तथा आडिट के समय प्रस्तुत करना।
  7. समस्त बिलों का भुगतान अथवा रिक्यूपमेन्ट/उपयोगिता प्रमाण पत्र से पूर्व जाँच कराना।
  8. बोर्ड के समस्त विभागीय कार्यालयों, केन्द्रों, पंजीकृत संस्थाओं, समितियों के लेखों का निरीक्षण करना।
  9. बोर्ड के समस्त क्षेत्रीय आहरण एवं वितरण अधिकारियों को लेखों के रख-रखाव, फार्मों का प्रयोग एवं लेखा नियमों सम्बन्धी निर्देश देना।
  10. बोर्ड को हस्तान्तरित सम्पत्ति एवं दायित्व की सूचियों को अन्तिम रूप से तय करना।
  11. बोर्ड के समस्त विभागीय योजनाओं की जाँच एवं वार्षिक लाभ-हानि का बैलेन्सशीट बनवाना।
  12. बोर्ड के समस्त लेखे तथा वित्त नियंत्रक के रूप में कार्य का उत्तरदायित्व।

3. अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी

  1. अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी-बोर्ड में मुख्य कार्यपालक अधिकारी के पर्यवेक्षण में कार्य करना।
  2. उद्योग के विकास कार्य हेतु पूर्णतया उत्तरदायित्वों का निर्वहन करना।
  3. मुख्यालय की विकास योजनाओं का अनुश्रवण करना और यथा विहित अवधि में मुख्य कार्यपालक अधिकारी तथा अध्यक्ष अथवा उपाध्यक्ष को जैसी भी स्थिति हो प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत कराना।
  4. विकास योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु जिन प्रयासों की आवश्यकता हो उन प्रयासों को सुनिश्चित कराना।